जीवन को उत्सव बना लो ---ओशो

जीवन को उत्सव बना लो-ओशो

 

तुम जहां हो, वहीं से यात्रा शुरू करनी पड़ेगी। अब तुम बैठे मूलाधार में और सहस्रार की कल्पना करोगे, तो सब झूठ हो जाएगा। फिर इसमें दुखी होने …

Rate this
Read more