गुजरात मे उत्तर भारतीयो का पलायन शासन प्रशासन की जवाबदेही .......?

 

गुजरात अब तक भारत देश मे सबसे विकासशील समृद्ध शांत प्रदेश के रूप मे माना जाता था। यहां सभी सामान्य से सर्वोच्च तक सुरक्षित थे। आज एक सवालिया निशान लग चुका है। मिली जानकारी के अनुसार यहां खास कर उत्तर प्रदेश और बिहार के नागरिको को निशाना बनाया जा रहा है। नेता प्रतिपक्ष कांग्रेस के संजय निरूपम ने पी एम मोदी को निशाने पर लेते हुए कहा कि यह उन्हे याद रखना चाहिये कि एक दिन वाराणासी जाना है। वाराणासी की जनता ने जिसे अपने गले लगाया आज उन्ही के भाई बन्धुओ को गुजरात छोडने पर मजबूर किया जा रहा है। और उत्तर प्रदेश के वाराणासी मे युपी बिहार एकता मंच द्वारा बडे बडे बेनरो से “गुजराती नरेन्द्र मोदी बनारस छोडो”  का नारा लगाते पाये गये। आज वर्षो की परंपरा का पर्दाफास भविष्य के लिये नुकशानदेह सावित हो सकता है। हालाक़ि इस पलायन के तुरंत बाद गुजरात के मुख्य मंत्री से उत्तरप्रदेश एवम बिहार के मुख्य मंत्रीयो ने टेलीफोनिक संपर्क कर हालात को काबु में रखने की जोरदार अपील की है। गुजरात के व्यापारी वर्ग भी इस पलायन से अपने अपने व्यापार मे मजदूरो के न रहने से दुखी देखे  जा रहे हैं।इस घटना की हर तरफ निंदा हो रही है। हालाकि अब स्थिति काबु मे बताई जा रही है।  फिर भी गुजरात सरकार  सुरक्षा के सवालो मे आ चुकी है। 

 

Rate this

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *