गुजरात में मंत्रियों और विधायकों का वेतन बढ़ा ----सेवक प्रधान सेवक के अच्छे दिन आ गये

गुजरात में मंत्रियों का वेतन अब एक लाख 32 हजार तथा विधायकों को वेतन अब एक लाख 16 हजार हो गया है।

सेवक प्रधान सेवक के अच्छे दिन आ गये

गुजरात विधानसभा में बुधवार को विधायक व मंत्रियों की वेतन वृ्द्धि से संबंधित विधेयक सर्वसम्मति से पारित हो गया। मंत्रियों का वेतन अब एक लाख 32 हजार तथा विधायकों का वेतन अब एक लाख 16 हजार रुपये हो गया है। वेतन वृद्धि दिसंबर, 2017 से लागू होगी।

गुजरात के गृह राज्यमंत्री प्रदीप सिंह जाडेजा ने गुजरात वेतन भत्ता संशोधन विधेयक 2018 को सदन में पेश किया। राज्य के विधायकों का वेतन पहले 73 हजार रुपये थे, जो करीब 40 हजार बढ़कर एक लाख 16 हजार तथा मंत्री, सचेतक आदि का वेतन 86 हजार से बढ़कर एक लाख 32 हजार रुपये हो गया है।

विधायक व मंत्रियों को सरकार करीब साढ़े छह करोड़ रुपये का एरियर देगी। वेतन वृद्धि से सरकार की तिजोरी पर दस करोड़ का अतिरिक्त बोझ पड़ेगा। विधानसभा की ओर से बढ़ाया गया वेतन सदस्यों को दिसंबर 2017 से मिलेगा।

इस बीच, कांग्रेस के एक विधायक ने विधायकों के करीब 43 हजार तथा मंत्रियों की वेतन वद्धि करीब 45 हजार को भी नाकाफी बताया है। वहीं, कांग्रेस के ही दूसरे विधायक ने सदन के बाहर आकर कहा कि जब तक राज्य में किसानों के कर्ज माफ नहीं होंगे, वे वेतन वृद्धि स्वीकार नहीं करेंगे। जबकि 182 सदस्यों वाले सदन में किसी भी सदस्य ने वेतन वृद्धि का विरोध नहीं किया।

Rate this