विजलपोर नगरपालिका प्राथमिक सुविधाओं की कमी …फिर भी ऐतिहासिक और संस्कारी …

*हम किसी से कम नहीं*
*अब मेरी बारी*
*विजलपोर नगरपालिका एक ऐतिहासिक नगरपालिका*
प्राथमिक सुविधाओं की कमी से लबालब  फिर भी ….
नगरपालिकाओ के जाबांज नवनियुक्त नियंत्रण अधिकारी प्रादेशिक कमिश्नर ने अपने ही काम से पल्ला झाडा ….
जाये तो जाये कहा….
गुजरात सरकार विकास समृद्धि पारदर्शिता को एक कदम आगे भ्रष्टाचार मुक्त गुजरात जैसे मुद्दों से छुटकारा पाने के लिए नगरपालिकाओ मे हो रहे कामो मे कमियों को दूर करने के लिये गुजरात मे छ झोन बनाकर एक एक झोन मे एक एक सर्वश्रेष्ठ पद वाले कमिश्नर पूरी टीम के साथ नियुक्त किया। सरकार की मंसा और कार्य एक ऐतिहासिक और काबिलेतारीफ है। परंतु यहां जमीनी हकीकत पहले कदम पर ही कुछ अलग नजर आती दिख रही है।
विजलपोर नगरपालिका मे विनजरुरी कामो को लेकर हुइ फरियाद जिसमे तीन करोड़ छप्पन लाख रुपए खर्च के सामने प्राथमिक सुविधाओं की अनदेखी की जाच पडताल के लिए प्रादेशिक कमिश्नर श्री सूरत को लिखित पत्र भेजा गया। और जाबांज कमिश्नर श्री जिसके लिए उन्हें नियुक्त किया गया है। उन्होंने उसकी जाच पडताल  करवाने के लिए विजलपोर नगरपालिका को भेज दिया है। 
अब इसकी जांच करवाने के लिये भेजा है कि किसी और इरादे से.. सभी अलग अलग अर्थ लगा रहे हैं। बहुत सारे जागृत नागरिकों और जानकारो से राय मागी गई।  परंतु नतीजा ढाक के तीन पात जैसा ही आया।  सरकार को बदनाम करने का अथवा अन्य कुछ भी ..परन्तु विकास समृद्ध पारदर्शिता यहाँ अभी भी कोसों दूर है।
इस समाचार को गंभीरता से लेकर गुजरात के प्रादेशिक कमिश्नर श्री अमित अरोरा जी पुनः समीक्षा करें और नगरपालिकाओ मे होते गैरकानूनी बिनजरूरी कामो को तत्काल बंद करवाने के लिये कार्रवाई करें । जिसकी आज अत्यंत जरूरत और समय की मांग है।

Rate this

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *